गोंद के सेवन से होने वाले फायदे आपको कर सकते है हैरान

gond-ke-fayde-in-hindi | गोंद के सेवन से होने वाले फायदे

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपको गोंद के सेवन से होने वाले क्या क्या फायदे है उनके बारे में जानकारी देंगे । गोंद पेड़ के तने को चीरा लगाने पर जो रस/स्राव निकलता है वह सूखने पर भूरा और कड़ा हो जाता है उसे गोंद कहते है. यह शीतल और पौष्टिक होता है. गोंद में उस पेड़ के औषधीय गुण भी होते हैं. गोंद का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाइयों में गोली या वटी बनाने के लिए और पावडर की बाइंडिंग के लिए किया जाता है.

गोंद खाना शरीर के लिए लाभदायक मना जाता है गोंद को आम रूप से कतीरा भी कहा जाता है
गोंद को कई रोगो में राम बाण मन जाता है गोंद कतीरा का आयुर्वेदिक दवाओं में बहुत व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता है साथ ही गोंद कतीरा का उपयोग भारत में गुड़ के लड्डू बनाने में भी किया जाता है गोंद के फायदे अकेले खाद्य उद्योग तक ही सीमित नहीं हैं। गोंद कतीरा की कॉस्मेटिक उद्योग में भी भारी मांग है। गोंद कतीरा की सबसे फायदेमंद बात यह है कि, यह सूखती नहीं है और यह अन्य गोंद की तरह खुद के साथ चिपकी नहीं रहती है।

गोंद के सेवन से होने वाले फायदे आपको कर सकते है हैरान

गोंद के सेवन से होने वाले फायदे :-

कमजोरी और थकान दूर करे :-
दोस्तों यदि आपको थकान, कमजोरी, गर्मी की वजह से चक्कर आना, उल्टी और माइग्रेन जैसी समस्याओं से ग्रसित है तो आपको भी गोद कतीरा का सेवन करना चाहिए ये काफी फायदेमंद होता है। है और यदि आप नियमित रूप से प्रात: आधा गिलास दूध में कतीरा गोंद कूटकर डालें और मिश्री डालकर गोंद का सेवन करें। तो आपकी पित्ती आसानी से ठीक हो जायेगी।

रक्त की समस्या दूर करे :-
गोंद कतीरा में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और फॉलिक एसिड जैसे पोषक तत्व पाएं जाते है।ये आपको पता होना चाहिए की गोंद कतीरा शरीर के खून को गाढ़ा करता है। १०-15 ग्राम गोंद कतीरा रात को पानी में भिगो दें और सुबह उसी पानी में मिश्री मिलाकर शर्बत बनाकर सेवन करें। इससे रक्त प्रदर दूर होता है। हो कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है

मूत्र असंतुलन के लिए :-
गोंद मूत्र असंतुलन के इलाज के लिए बहुत ही लाभकारी उपाय है। यह मूत्र पथ की सूजन और मूत्र के अवरोध के मामले में मूत्र की मांसपेशियों को शांत करने में मदद करता है। इसका सेवन करने से शरीर के अधिकांश हानिकारक तत्व मूत्र के माध्यम से बाहर निकालने में मदद मिलती है। यदि आपको मूत्र संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या है तो आप गोंद कतीरा का प्रयोग कर सकते हैं। यदि आप ऐसा लगातार १०-१५ करते है तो आपकी मूत्र असंतुलन की बीमारी आसानी से दूर की जा सकती है

महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद :-
दोस्तों गोंद के फायदे , महिलाओं में मासिकधर्म में अनियमतिता के चलते अक्सर फॉलिक एसिड या खून की कमी हो जाती है। इसके अलावा बच्चा होने के बाद की कमजोरी,माहवारी की गड़बड़ी या ल्यूकोरिया जैसी समस्याओं में भी ये फायदेमंद होता है। गोंद कतीरा और मिश्री को साथ में पीस लें, और फिर इसे दो चम्मच कच्चे दूध में मिलाकर खाएं। ऐसा करने से महिलाओं में मासिकधर्म में अनियमतिता की कमी को आसानी से दूर की जा सकती है

स्वप्नदोष :-
दोस्तों आज कल के युवाओ में ये समस्या पाई जाती है इस बीमारी का एक है इलाज है जो आप अपने घर पर ही इलाज कर सकते है दोस्तों स्वप्नदोष की समस्या है तो रात में एक कप पानी में 4-5 ग्राम गोंद कतीरा भिगो दें। सुबह ये फूल जाए तो इसमें 10-12 ग्राम मिश्री मिलाकर खाएं। कुछ दिन ऐसा करने से आपको इसका लाभ महसूस होगा।

ममाइग्रेन में लाभकारी :-
4 ग्राम मेहंदी के फूल और 4 ग्राम गोंद कतीरा बर्तन में भिगोकर रख दें। इसे रात में भिगोएं और सुबह मिश्री के साथ मिलाकर पिएं, सिरदर्द, माइग्रेन से छुटकारा मिलने के साथ ये बाल झड़ना भी कम हो जाता है ।

FOLLOW @Easymyhealth