ग्रीन टी (चाय) पीने के फायदे ...

ग्रीन-टी के  फायदे, उपयोग और नुकसान - Green Tea Benefits, Uses and Side Effects

हम जानते ही हैं कि ग्रीन टी (चाय) पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, पर क्या आप जानते हैं कि इसे ज्यादा पीना भी हानिकारक हो सकता है जानें किस तरह से ग्रीन टी पीने से मिलेंगे जबर्दस्त फायदे ग्रीन टी पीने का एक सही समय भी तय होना चाहिए, वरना ये नुकसानदेह हो सकता है। ग्रीन टी में कैफीन और टेनिन्स पाए जाते हैं, जो गैस्ट्रिक जूस को डाइल्यूट करके पेट को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

ग्रीन टी से हृदय रोग में आराम :-

Green Tea कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करके हृदय रोग और स्ट्रोक को रोकने में मदद करता है। यहां तक कि दिल का दौरा पड़ने के बाद यह कोशिका की मृत्यु को रोकता है और हृदय कोशिकाओं के पुनः बनने की गति को बढाता है जिससे हृदय रोग में आराम मिलता है और ऐसे रोग काम होने के चांस होते है । इसलिए ग्रीन टी का उपयोग करना चाहिए ।

ग्रीन टी से वजन घटाना आसान :-

ग्रीन टी रोज एक एक गिलास पीने से ग्रीन टी (Green Tea ) वजन घटाने में मददगार है । यह वसा को जलाता है और स्वाभाविक रूप से मेटाबोलिज्म (चयापचय) दर को बढ़ा देता है। यह सिर्फ एक दिन में 65 कैलोरी को जला देता है। यह एक वर्ष में लगभग 4-5 किलोग्राम के करीब वजन घटने के बराबर हो जाता है। यदि आप ग्रीन टी पे रहे हो तो आपको दूध वाली चाय नहीं पीनी चाहिए ।

ग्रीन से मधुमेह के रोग में फायदेमंद :-

ग्रीन टी मधुमेह (diabetes) से पीड़ित लोगों में रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर बनाए रखने में मदद करती है। ग्रीन टी में मौजूद पॉलिफैनोल्स और पोलिसच्चराइड्स (polysaccharides) जैसे यौगिक मधुमेह के दोनों प्रकार के लिए उपयोगी हो सकते हैं।

ग्रीन टी अग्न्याशय में इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ा सकती है, रक्त शर्करा के स्तर को नियमित कर सकती है और टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित लोगों में ग्लूकोज को अवशोषित कर सकती है। टाइप 2 मधुमेह में, लगातार हो रही रक्त शर्करा में वृद्धि के कारण अकसर आंखों, दिल और गुर्दे में जटिलताएं पैदा हो जाती हैं। ग्रीन टी इस वृद्धि को रोकती है। वास्तव में, ग्रीन टी मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति के लिए सबसे अच्छी चीजों में से है इसलिए मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में इसे जरुर शामिल करना चाहिए।

बालों के लिए लाभदायक :-

ग्रीन टी (हरी चाय ) के इस्तेमाल से बालों का झड़ना रुकने के साथ ही उनका विकास भी बड़ी तेज़ी से होता है। हरी चाय बालों को प्राकृतिक रूप से बढ़ने में मदद करते है। और बालो का सफ़ेद होना भी काम हो सकता है ।

एंटी कैंसर :-

ग्रीन टी के बारे में कम लोग जानते हैं कि ये कैंसर से भी बचाव रखने में मददगार है और हड्डियों को भी मजबूती देती है। जिससे कैंसरमें फायदेमंद हो सकती है

दांत के लिए ग्रीन टी फायदेमंद :-

ग्रीन टी में शामिल ऑक्सीडेंट्स से बालों का गिरना कम होता है और दांत भी कीड़ा लगने से बचे रहते हैं। ग्रीन टी के इतने फायदे होने के कारण हमे नॉर्मल चाय की जगह इसका सेवन करना चाहिए।

यादाश्त को बढ़ाने में मददगार :-

हरी चाय हमारे मस्तिष्क के संज्ञानात्मक कार्यो को बढ़ा देती है। हरी चाय के सेवन से अल्जाइमर रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। इसके अलावा हरी चाय के इस्तेमाल से सुजन में कमी, दांतों को स्वस्थ रखने, गठिया में सुधार, तनाव को कम करने में मददगार, त्वचा के विभिन्न रोगों का इलाज और सुधार इत्यादि को करने में सहायक हो सकता है।

कोलेस्ट्रॉल को काम करने में सहायक है ग्रीन-टी :-

ग्रीन-टी दिल की बीमारी से रक्षा कर सकती है। ग्रीन-टी हानिकारक कोलेस्ट्रॉल, जिससे ह्रदय रोग होने की आशंका बढ़ती है, उसके स्तर को कम कर सकती है। अधिकांश अध्ययन ग्रीन-टी कैप्सूल के उपयोग पर किए गए हैं, लेकिन चाय भी यह काम बखूबी कर सकती है ।

गठिया के लिए फायदेमंद है ग्रीन-टी :-

ग्रीन-टी में ईजीसीजी के एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव प्रमुख भूमिका निभाते हैं। ये शरीर में छोटे-छोटे मॉलिक्यूल के उत्पादन को सीमित करता हैं, जो सूजन और गठिया दर्द का कारण बनते हैं। ग्रीन-टी हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार लाता है इसलिए गठिया के मरीजों को ग्रीन टी पीना चाहिए ।

अगर आपको भी ग्रीन टी के इस्तेमाल का सही समय और तरीका पता नहीं है तो ये टिप्स आपकी मदद करेंगे।

1. खाली पेट कभी भी ग्रीन टी नहीं पीना चाहिए ।

2. खाना खाने से 2 या 3 घंटे पहले ही ग्रीन टी पी लें।

3.कुछ लोग ग्रीन टी में दूध और चीनी मिलाकर पीते हैं। ग्रीन टी में चीनी और दूध मिलाने से परहेज करें। इससे ये कम काम करती है |

4. ग्रीन टी को शहद के साथ मिलाकर पीना फायदेमंद हो सकता है |

5. खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है।

6. एक दिन में दो या तीन कप ये ज्यादा ग्रीन टी पीना खतरनाक हो सकता है।

7. ग्रीन टी पिने के बाद थोड़ा बहुत टहलना चाहिए ।

8. ग्रीन टी सुबह सुबह काफी फायदेमंद रहती है ।

ऐसे में रखें ग्रीन टी से दूरी:

- ज्यादा ग्रीन टी पीना पेट दर्द और कब्ज की वजह बन सकता है |

- अनीमिया के शिकार लोगों को ग्रीन टी से दूरी रखनी चाहिए |

- एसिडिटी से परेशान रहते हैं तो ग्रीन टी ज्यादा बिल्कुल नहीं पीना चाहिए

- ज्यादा ग्रीन टी पीना शरीर में कैल्शियम की मात्रा को कम करता है. जिससे कई बीमारियों का जन्म हो सकता है |

- प्रेगनेंट या ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं को पूरे दिन में एक या दो कप से ज्यादा ग्रीन टी नहीं पीनी चाहिए. इससे बच्चे को नुकसान हो सकता है|

FOLLOW @Easymyhealth